गाय और शेर – Gaay aur Sher ki Kahani

4.5/5 - (8 votes)

गाय और शेर – Gaay aur Sher ki Kahani in hindi

गाय और शेर की कहानियाँ, बहुत ही रोमांचक होती है| यह एक ऐसी प्रेरणादायक गाय की कहानी हैं| एक खेत में, एक किसान, अपनी गाय के साथ रहता था| किसान अपनी गाय से बहुत प्यार करता था| किसान खेत में बने हुए, कुएँ से पानी निकालकर, अपने लिए खाना बनाया करता था लेकिन, वह अपने खाने से ज़्यादा गाय की चिंता करता था| किसान अक्सर पहले गाय को चारा खिलाने के बाद, ख़ुद खाना खाया करता| एक दिन, किसान शहर बीज लेने चला जाता है और गाय को खेत में अकेले ही छोड़ देता है| इसी बीच एक शेर, पानी की तलाश में, कुएँ के पास आ जाता है| शेर प्यास से तड़प रहा था इसलिए, वह कुएँ के अंदर, छलांग लगा देता है| कुएँ के पानी से, शेर की प्यास तो बुझ जाती हैं लेकिन, वह अब कुएँ के अंदर ही फँस जाता है| शेर ज़ोर ज़ोर से दहाड़ने लगता है| शेर की दहाड़ सुनकर, गाय धीरे धीरे कुएँ के पास आती हैं और जैसे ही, गाय की नज़र, शेर पर पड़ती है| वह घबराकर, खेत में यहाँ वहाँ भागने लगती है लेकिन, थोड़ी ही देर में, गाय को भी समझ में आ जाता है कि, “शेर उसका कुछ नहीं बिगाड़ सकता क्योंकि, वह कुएँ में फँस चुका है बल्कि, उसे ख़ुद, मदद की ज़रूरत है|” किसान की गाय, बहुत समझदार थी| वह शेर को बचाने के लिए, मछली पकड़ने का जाल, कुएँ के अंदर लटका देती है और ख़ुद भागकर, किसान के कमरे में, आकर छिप जाती है| शेर जाल का सहारा पाकर, धीरे धीरे कुएँ से बाहर निकलने की कोशिश करने लगता है और बहुत संघर्ष के बाद, वह बाहर निकलने में क़ामयाब हो जाता है|

गाय और शेर
Image by Alexa from Pixabay

शेर खेत में घूम ही रहा होता है कि, इसी बीच किसान शहर से लौट आता है| शेर को देखते ही, किसान के हाथ पैर कांपने लगते हैं| वह ज़ोर से बचाओ बचाओ चिल्लाने लगता है| किसान की आवाज़ सुनकर, शेर तुरंत उसके पास जाकर खड़ा हो जाता है और ज़ोरदार दहाड़ लगाता है| शेर को इतना नज़दीक खड़ा देख, किसान की सिट्टीपिट्टी गुम हो जाती है लेकिन, इसी बीच किसान की गाय, शेर के सामने, दीवार बनकर खड़ी हो जाती है और ज़ोर ज़ोर से, आवाज़ निकालने लगती है| शेर, गाय को देखकर, तुरंत पहचान जाता है कि, यह वही गाय है जिसने, उसको बचाने के लिए, कुएँ के अंदर जाल फेंका था| शेर को एहसास होता है कि, “गाय, किसान को बचाना चाहती है इसलिए उससे भिड़ने को तैयार है|” शेर के गाय को नुक़सान नहीं पहुँचाना चाहता था इसलिए, वह धीरे धीरे वहाँ से पीछे हट जाता है| शेर को पीछे हटता देख, किसान की जान में जान आ जाती है| किसान अपनी गाय की हिम्मत देखकर, दंग रह जाता है| उसे यक़ीन ही नहीं होता कि, उसकी गाय के अंदर इतना साहस, कैसे आया कि, वह शेर का मुक़ाबला करने के लिए, उसके सामने आकर, खड़ी हो गई और उससे भी ज़्यादा, ताज्जुब की बात तो यह थी कि, शेर ने, गाय को, बिना हमला करें छोड़ दिया| ये दोनों ही घटनाएँ, प्रकृति के विपरीत थी लेकिन, किसान बहुत ख़ुश था| उसकी जान बच चुकी थी| वह अपनी गाय को प्यार करते हुए, उसी के साथ खेत में बैठ जाता है और शेर को जाता हुआ देख, एक गहरी सोच में डूब जाता है|

हाथी – Hathi ki Kahani
सोने का घोंसला | sone ka ghosla | mystery story

 

Leave a Comment